सहारे इंसान को खोखला कर देते है – Sad Motivational Story In Hindi

0
563
Sad Motivational Story In Hindi
Sad Motivational Story In Hindi

Sad Motivational Story In Hindi

हेलो दोस्तों स्वागत हैं आपका फिर से NSMotivation में आज की इस पोस्ट में में आप सबको एक motivational कहानी शेयर करने वाला हूँ उम्मीद हैं आपको पसंद आएगी।। इस कहानी में वो किसी और के सहारे होता हैं और उसकी मौत हो जाती हैं, तो आप इस कहानी को जरूर पूरा पढियेगा।।


Sad Motivational Story In Hindi

एक बादशाह सर्दियों की शाम जब अपने महल में दाखिल हो रहा था तो एक बूढ़े दरबान को देखा जो महल के सदर दरवाज़े पर पुरानी और बारीक वर्दी में पहरा दे रहा था।

बादशाह ने उसके करीब अपनी सवारी को रुकवाया और उस बूढ़े दरबान से पूछने लगा ;

“सर्दी नही लग रही ?”

दरबान ने जवाब दिया “बोहत लग रही है हुज़ूर ! मगर क्या करूँ, गर्म वर्दी है नही मेरे पास, इसलिए बर्दाश्त करना पड़ता है।”

“मैं अभी महल के अंदर जाकर अपना ही कोई गर्म जोड़ा भेजता हूँ तुम्हे।”

दरबान ने खुश होकर बादशाह को फर्शी सलाम किया और आजिज़ी का इज़हार किया।

लेकिन बादशाह जैसे ही महल में दाखिल हुआ, दरबान के साथ किया हुआ वादा भूल गया।

सुबह दरवाज़े पर उस बूढ़े दरबान की अकड़ी हुई लाश मिली और करीब ही मिट्टी पर उसकी उंगलियों से लिखी गई ये तहरीर भी ;

“बादशाह सलामत ! मैं कई सालों से सर्दियों में इसी नाज़ुक वर्दी में दरबानी कर रहा था, मगर कल रात आप के गर्म लिबास के वादे ने मेरी जान निकाल दी।”

सहारे इंसान को खोखला कर देते है और उम्मीदें कमज़ोर कर देती है।

अपनी ताकत के बल पर जीना शुरू कीजिए, खुद की सहन शक्ति, ख़ुद की ख़ूबी पर भरोसा करना सीखें।

आपका आपसे अच्छा साथी,
दोस्त, गुरु, और हमदर्द कोई नही हो सकता


दोस्तों उम्मीद है आपको ये कहानी पसंद आया होगा अगर इस कहानी से कुछ सिख मिली होगी तो अपने दोस्तों से जरूर शेयर करना, तो चलिए आपसे सब से कुछ Motivational Quotes शेयर करता हूँ..


Motivational Quotes Hindi 

Sad Motivational Story In Hindi
Sad Motivational Story In Hindi

कामयाबी और नाकामयाबी
दोनो ज़िन्दगी के अहम हिस्से है
और दोनों ही किसी के जीवन
में स्थायी नही है।


हम से पहले भी मुसाफ़िर कई गुज़रे होंगे
कम से कम राह के पत्थर तो हटाते जाते।


भरोसा किया जाए या नहीं,
ये जानने का सबसे आसान तरीका ये है
कि भरोसा किया जाए।


ना घुमने के लिये कार चाहिए ,
ना गले के लिए हार चाहिए
” भगवद् गीता मे श्री कृष्णा ने
बहुत बड़ी बात कही है ” !!
जीवन के उद्धार के लिए केवल
मित्र , प्रेम और परिवार चाहिए…!.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here