[Father+ Mother+ Motivational Poem] – Father Poetry In Hindi

0
397
Father Poetry In Hindi
Father Poetry In Hindi

Father Poetry In Hindi


Father Poetry In Hindi  – हेलो दोस्तों आज की इस पोस्ट में मैं आप सबसे Father Poetry शेयर कर रहा हूँ और साथ ही कुछ Motivational Speech भी शेयर कर रहा हूँ उम्मीद हैं आपको जरूर पसंद आएगा, अगर पसंद आये तो अपने दोस्तों से जरूर शेयर करना।


Father Poetry In Hindi

Bachho Ke Sapno Ki Khatir Khud Ke Sapno Ko Bhool Jate Hai..
MERE PAPA Bachho Ko Khush Dekhkar Apna Dukh Bhool Jate Hai…

Akele Kandho Par Poore Pariwar Ka Bhar Uthate Hai..
Kisi Ko Ehsaas Bhi Nahi Hone Dete Jab Wo Thak Jate Hai…

Haa Kabhi Kabhi Gussa Krte Hai pr..
Apni Mohabbat Ke Aage Haar Jate Hai MERE PAPA..

Kabhi Kabhi Dekhta Hu Unko To Lgta Hai Ki Kahu..
Bhut Hua Ab Aap Beth Jaiye Kuch To Mujhe Apne Dil ka Haal Sunaiye MERE PAPA..

Aapki Muskurahat Dekhkar Dil Ko Sukoon Milta Hai..
Allah Kre Aapki Ye Muskan Hamesha Barkarar Rahe MERE PAPA..

Father Poetry In Hindi
Father Poetry In Hindi

Motivational Speech In Hindi  

सुन ना मेरे यार…

जब करते है गलत काम, नही डराता राम का नाम
गुँजती है एक आवाज, रुक जा मेरे यार।

उस कठीन तिराहे पर, चलते है गलत राह पर
आती है एक आवाज रूक जा मेरे यार।

उस मादिरा के प्याले से, कंठो के नाले से
आती है एक आवाज रूक जा मेरे यार।

जिस्म के उस प्यार से, मन में दबी धिक्कार से
आती है एक आवाज बस कर मेरे यार।

उस बरसते सावन से, प्यार किसी पावन से
आती है एक आवाज आ जा मेरे यार।

उन तेरे घोटालों में भी, सुनना तुम कभी
आती हैं एक आवाज बस कर मेरे यार।

बढ़ती मँहगाई से और घटती कमाई से
आती है एक आवाज अब क्या करें यार।

मँहगाई की मार से, इस नई सरकार से
आती है एक आवाज कड़वी दवा लो मेरे यार।


Mother Poetry In Hindi 

Maa Wo Azeem Hasti Hai..

Jab Wo Dua Kre To Khuda Ki Rehmat Barasti hai…

 

Jo Agar Muskura De To Gulshan Me Bahaar Aaye..

Jo Agar Gamgeen Ho To Badlo Se Barish Baras Jaye..

 

Wo JAB Pyar Kre To Saari Thakaan Chali Jati Hai..

Jo Uski God Me Sir Rakhu To Jannat Ki Khushboo Aati Hai…

 

Unki Azmat o Shaan Bayan Me Kar Nahi Sakta..


Motivational Hindi Speech 

मुसीबतों से भागना, नयी मुसीबतों को निमंत्रण देने के समान है।
जीवन में समय-समय पर चुनौतियों एंव मुसीबतों का सामना करना पड़ता है एंव यही जीवन का सत्य है।


हजारो फूल चाहिए एक माला बनाने के लिए,
हजारों दीपक चाहिए एक आरती सजाने के लिए
हजारों बून्द चाहिए समुद्र बनाने के लिए,
पर “माँ “अकेली ही काफी है,
बच्चो की जिन्दगी को स्वर्ग बनाने के लिए..!!
मेरी जान Meri माँ.🙏🙏🙏


अंहकार की सबसे बुरी बात यह होती है कि ये आपको कभी इस बात का एहसास नही होने देता कि आप गलत है।
सफलता की कहानियाँ मत पढो उससे आपको केवल एक संदेश मिलेगा
असफलता की कहानियाँ पढ़ो उससे आपको सफल होने के कई आईडिया मिलेंगे।


 

Final Word Of Father Poetry In Hindi

Father Poetry In Hindi :- दोस्तों उम्मीद हैं आपको पसंद आई होगी अगर पसंद आई हो तो हमे कमेंट करके जरूर बताये और अपने दोस्तों से जरूर शेयर करे…!!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here